हरियाणा की 13वीं विधानसभा का कामकाज

हरियाणा की 14वीं विधानसभा के चुनाव 21 अक्टूबर, 2019 को होंगे। 13वीं विधानसभा का सत्र नवंबर 2014 से सितंबर 2019 के दौरान संचालित हुआ था। इस नोट में फरवरी 2019 तक 13वीं विधानसभा के कामकाज का विश्लेषण किया गया है (इसमें 2017 के बजट और अक्टूबर 2017 के सत्र शामिल नहीं है, चूंकि विधानसभा की वेबसाइट पर इनसे संबंधित बुटेलिन उपलब्ध नहीं थे)।

विधानसभा ने एक वर्ष में औसत 72 घंटे कार्य किया

·   सत्र के दौरान सोमवार से बृहस्पतिवार, कुल 4.5 घंटे और शुक्रवार को 3.5 घंटे विधानसभा की बैठक होती है। 13वीं विधानसभा ने निर्धारित समय का 108% कार्य किया, यानी प्रति दिन औसत 4 घंटे 39 मिनट।

·   नवंबर 2014 और फरवरी 2019 के बीच 321 घंटों के लिए कुल 69 दिन विधानसभा की बैठक हुई। पहले चार वर्षों के लिए, जिनके डेटा हमारे पास हैं, एक वर्ष में औसत 16 दिनों यानी 72 घंटों की बैठक हुई।

39% तारांकित प्रश्नों के मौखिक उत्तर मिले

 

·   विधायक सरकार से प्रश्न करके उसे जवाबदेह ठहराते हैं। संबंधित मंत्री तारांकित प्रश्न का मौखिक उत्तर देता है।

·   नवंबर 2014 और फरवरी 2019 के बीच, बजट 2017 और अक्टूबर 2017 के सत्रों को छोड़कर, 865 तारांकित प्रश्न उत्तरों के लिए सूचीबद्ध किए गए। संबंधित मंत्री ने इनमें से 39% प्रश्नों के मौखिक उत्तर दिए।

·   विधानसभा में मंत्री के उत्तर के बाद विधायक अनुपूरक प्रश्न पूछ सकते हैं। इस अवधि के दौरान 878 अनुपूरक प्रश्न पूछे गए। मौखिक उत्तर वाले प्रत्येक तारांकित प्रश्न के साथ औसत 2.6 अनुपूरक प्रश्न पूछे गए।

48% विधायकों की आयु 55 वर्ष से कम

·   44% विधायकों की आयु 41 से 55 वर्ष के बीच थी और 42% सदस्य 56 से 70 वर्ष के बीच के थे।

·   74% विधायकों के पास बैचलर और उससे उच्च डिग्री है जिनमें से 18% पोस्ट ग्रैजुएट और 2% डॉक्टरेट हैं।

·   26% विधायकों ने हायर सेकेंडरी स्तर तक की शिक्षा ग्रहण की है।

Sources: Haryana Legislative Assembly website (http://www.haryanaassembly.gov.in), Haryana Assembly Bulletins and Daily ProceedingsThe bulletins for Budget 2017 and October 2017 sessions were not available on the Assembly websiteAge and educational qualifications of members have been extracted using the date of birth on the Assembly website and 2014 election affidavits data from the Association for Democratic Reforms (http://www.myneta.info).

अस्वीकरणः प्रस्तुत रिपोर्ट आपके समक्ष सूचना प्रदान करने के लिए प्रस्तुत की गई है। पीआरएस लेजिसलेटिव रिसर्च (पीआरएस) के नाम उल्लेख के साथ इस रिपोर्ट का पूर्ण रूपेण या आंशिक रूप से गैर व्यावसायिक उद्देश्य के लिए पुनःप्रयोग या पुनर्वितरण किया जा सकता है। रिपोर्ट में प्रस्तुत विचार के लिए अंततः लेखक या लेखिका उत्तरदायी हैं। यद्यपि पीआरएस विश्वसनीय और व्यापक सूचना का प्रयोग करने का हर संभव प्रयास करता है किंतु पीआरएस दावा नहीं करता कि प्रस्तुत रिपोर्ट की सामग्री सही या पूर्ण है। पीआरएस एक स्वतंत्र, अलाभकारी समूह है। रिपोर्ट को इसे प्राप्त करने वाले व्यक्तियों के उद्देश्यों अथवा विचारों से निरपेक्ष होकर तैयार किया गया है। यह रिपोर्ट मूल रूप से अंग्रेजी में तैयार की गई है। हिंदी रूपांतरण में किसी भी प्रकार की अस्पष्टता की स्थिति में अंग्रेजी की मूल रिपोर्ट से इसकी पुष्टि की जा सकती है।